ई-श्रम पोर्टल 2021: e Shramik Card लाभ, रजिस्ट्रेशन व CSC लॉगिन eshram.gov.in

ई-श्रम पोर्टल पंजीकरण | E-Shram Portal Online Registration | ई-श्रम पोर्टल लॉगिन | ई-श्रम पोर्टल ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म | E Shram Portal Apply Online | e Shramik Card Registration | E-Shram Portal Par Awedan Kaise Kare
e shram portal
E-Shram Portal

भारत सरकार का रोजगार मंत्रालय एक अभिन्न व बड़ा मंत्रालय है जो कि निम्न वर्ग व मजदूर साथियों के हित मे नए-नए योजनाएं व कार्य लाता रहता है। इससे न सिर्फ रोजाना काम करने वाले कामगारों का हित होता है बल्कि ये नए रोजगार के रूप मे उन्हें प्रोत्साहन मिलता है। देश को भी मजदूरों का साथ होना बहुत ही जरूरी है इससे देश अधिनियम के तहत कार्यान्वयन और संगठित होता है।

श्रम और रोजगार मंत्रालय के उपेक्षा अनुसार यह निश्चित किया गया है कि देश के सभी मजदूर, कामगार, लघु व अति लघु धंधा करने वाले भाइयों का एक राष्ट्रीय डेटाबेस तैयार किया जाए जो ई-श्रम पोर्टल के रूप मे विकसित किया गया है। इस पोर्टल से दैनिक मजदूरी करने वाले को बहुत तरह के लाभ का उन्मूलन होगा जैसे कि प्रधानमंत्री योजना, कौशल विकास योजना, किसान योजना आदि। पोर्टल के अंतर्गत मजदूरों का नाम, पता उनका शैक्षणिक योग्यता तथा परिवार की जानकारी इत्यादि जानकारी के साथ उनका रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। यह एक बड़ा योजना है जो कि राष्ट्रीय स्तर पर सभी का डेटाबेस सुरक्षित रखा जाएगा।

यह भी पढे –

E Shram Portal Launch 2021

केन्द्रीय सरकार मंत्री भूपेन्द्र यादव के द्वारा 26 अगस्त, 2021 को ई-श्रम पोर्टल को लॉन्च कर दिया गया। E-Shram Portal के माध्यम से देश के 38 करोड़ दैनिक मजदूरों को जो कि अनेक कार्यों मे अपना योगदान दे रहे है, ऐसे लोगों का डेटाबेस तैयार किया जाएगा। इन सभी कार्यों के लिए उनका आधार कार्ड का डाटा लिया जाएगा। इनमे लाभकर्ता रेहड़ी पटरी वाले, ठेला लगाने वाले, खेतों मे मजदूरी करने वाले व अन्य घरेलू कार्यों को करने वाले। जो भी श्रमिक E Shram Portal से जुड़ जाते है उनके एक 12 अंक का ई-कार्ड (E-Card) प्रदान किया जाएगा। अब उनका डेटाबेस E Shram Portal पर मौजूद रहेगा तो उनके किसी भी सरकारी लाभ से वंचित नहीं होना पड़ेगा। सरकार डायरेक्ट उन्हे इसका बेनेफिट देगी।

ई-श्रम पोर्टल का उद्देश्य – Purpose of E-Shram Portal

ई-श्रम पोर्टल (E-Shram Portal) – ई-श्रम पोर्टल का मुख्य उद्देश्य मजूदरों का हित करना है उन्हे वो सभी तरह का सरकारी लाभ मिलने चाहिए जो केंद्र सरकार बनाती है। ऐसे मे प्रवासी श्रमिक, ठेला श्रमिक, घरेलू श्रमिक, गलियों मे घूमकर समान बेचने वाले सभी को सरकारी लाभ देना चाहती है। अगर इन लोगों का डेटाबेस एक जगह सरकार के कोश मे फ़ीड रहेगा तो सरकार को परेशानी नहीं होगी इनको लाभ देने मे और इन्हे भी अपने हक का लाभ मिलेगा।

ई-श्रम पोर्टल के लाभ तथा विशेषताएं

  • देश के सभी असंगठित कामगारों का डेटाबेस बनाना, जिससे उनको हक मिल सके।
  • असंगठित कामगारों को सुरक्षा योजना का लाभ मिल सके इसके अलावा जो भी केंद्र सरकार व रोजगार मंत्रालय योजना चला रही है उससे मजदूरों को फायदा मिले।
  • पंजीकृत असंगठित कामगारों के संबंध मे विभिन्न हितधारकों जैसे मंत्रालय/विभागों/बोर्डों/एजेंसियों/केंद्र व राज्य सरकारों की संगठनों के साथ एपीआई माध्यम के द्वारा प्रशासित की जा रही विभिन्न सामाजिक सुरक्षा और कल्याणकारी योजनाओं के वितरण के लिए जानकारी साझा करना।
  • कोरोना मे जिनके काम छूट गए जैसे हालत हो गई थी मजदूरों की ऐसा फिर कभी भविष्य मे ना हो जिससे राष्ट्रीय संकट से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने इस योजना को शुरू किया है। यह देश हित मे इसका बड़ा अहम है।

ई-श्रम पोर्टल पर कौन पंजीकरण कर सकता है?

निम्न शर्तों को अगर कोई पूरा करता है तो वो व्यक्ति पोर्टल पर आसानी से पंजीकरण करत कर सकता है:

एक संगठित कामगार।

  • जिसकी आयु 16 वर्ष से 59 वर्ष के बीच हो।
  • EPFO/ESIC या NPS का सदस्य न हो। मतलब की किसी भी सरकारी पद के द्वारा लाभ न लेता हो।

असंगठित कामगार/मजदूर कौन है?

कोई भी कामगार जो गैर सरकारी कार्य करता हो। वो छोटे स्तर पर मजदूरी करना, ठेला चलना, रेहड़ी व पटरी पर काम करने वाला हो और इसी कार्य से अपने परिवार का पेट पालता हो।

ई-श्रम पोर्टल पर आवेदन करने के लिए निम्न दस्तावेज की जरूरत है-

  • पोर्टल पर पंजीकरण करने के लिए आधार कार्ड की आवश्यता है।
  • आधार कार्ड से आपका मोबाईल नंबर लिंक रहना चाहिए
  • आपका किसी भी बैंक मे खाता हो

नोट:- यदि आपका आधार कार्ड मोबाईल नंबर से लिंक नहीं है तो किसी भी नजदीकी आधार कार्ड सेंटर पर जाकर मोबाईल नंबर को लिंक करा ले। तभी ई-श्रम पोर्टल पर आवेदन कर पाएंगे।

E-Shram Portal के तहत निम्न सुविधाये व योजनाए प्रदान की जाएगी

अगर आप E-Shram Portal से जुड़ जाते है तो मुख्य दो तरह के सुविधाएं आपको दी जाती है।

1- सामाजिक सुरक्षा कल्याण योजनाएं (Social Security Welfare Schemes)

2- रोजगार योजनाएं (Employment Scheme)

सामाजिक सुरक्षा कल्याण योजनाएं (Social Security Welfare Schemes)

प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन पेंशन योजना (PM-SYM) – इस योजना के अंतर्गत भारतीय नागरिकों को जो 60 वर्ष से अधिक आयु के हो गए है उन्हे पेंशन देने का प्रावधान है। इस पेंशन को लेने के लिए प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन पेंशन योजना मे पंजीकरण करवाना पड़ता है। जो भी व्यक्ति 18 वर्ष से 40 वर्ष का है वो इसको भर सकता है, पंजीकरण करने के बाद हर महीने 55 रुपये से लेकर 200 रुपये तक अंशदान देना पड़ता है। जब वो व्यक्ति 60 का हो जाता है तब सरकार उसको मासिक पेंशन के तौर पर 300 रुपये देती है अगर उसकी मौत होजाती है तो उसके बच्चे या पत्नी को 50 प्रतिशत पेंशन देती है।

दुकानदारों, व्यापारियों और स्व-नियोजितव्यक्तियों (एनपीएस-व्यापारी) के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना (NPS Traders) – यह भी एक पेंशन योजना है ये योजना सिर्फ व्यापारियों के लिए है। ऐसे व्यापारी जो मान-धन पेंशन योजना का लाभ नहीं लेते हो, ये भारत के नागरिक हो, छोटे किसी भी दुकान के मालिक हो, 18 से 40 वर्ष की उम्र के हो। ऐसे लोगों को 55 से 200 रुपये मासिक जमा करने पर 60 वर्ष के आयु के बाद 3000 रुपये मासिक पेंशन दिया जाता है।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योतिबीमा योजना (PMJJBY) – जिनके पास जन-धन का बचत खाता है और 18 से 50 की उम्र रखते है अगर वो सालाना 330 रुपये जमा करते है तो ऐसे व्यक्ति के किसी भी कारण मृत्यु होने से 2 लाख रुपये सरकार देगी।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) – 18 से 70 वर्ष के आयु वाले लोग इस योजना का लाभ ले सकते है। इस योजना के अंतर्गत दुर्घटना मे मृत्यु होने पर या विकलांगता होने पर 2 लाख रुपये दिए जाएंगे अगर कम विकलांग होते है तो 1 लाख रुपये दिए जाते है।

अटल पेंशन योजना – अटल पेंशन के तहत 1000 रुपये से 5000 रुपये पेंशन के तौर लाभार्थी को दिया जाता है। अगर लाभार्थी की मृत्यु हो जाती है तब उसके नॉमिनी को ददिया जाता है।

सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) – वनपेंशन और वनराशन कार्ड के तहत जो भी गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार है तथा उनके परिवार मे 15 वर्ष से 59 वर्ष के मध्य का कोई व्यक्ति नहीं है। इसके साथ वो अपना दैनिक मजदूरी से जीवन यापन करते है ऐसे लोगों को हर महीने 35 किग्रा चवाला या गेंहू प्रदान किया जाता है। अगर गरीबी रेखा से ऊपर है तो 15 किग्रा खाद्य दिया जाता है।

प्रधानमंत्री आवास योजना – ग्रामीण (PMAY-G) – आवास योजना के तहत मैदानी क्षेत्रों मे 1.2 लाख व पहाड़ी क्षेत्रों के लिए 1.3 लाख रुपये सहायता के तौर पर सरकार द्वारा दिया जाता है।

राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम (NSAP)- वृद्धावस्था संरक्षण – वृद्धा पेंशन के तहत हर वृद्धा व्यक्ति को जिन्होंने NSAP मे अपना रेजिस्ट्रैशन कराया है उन्हे हर महीने 1000 रुपये से 3500 रुपये दिए जाते है।

आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (AB-PMJAY) – इस केन्द्रीय योजना के अंतर्गत हर गरीब परिवार को प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख रुपये के निशुल्क स्वास्थ्य सेवा का लाभ दिया जाता है। जिनके घर मे कमाने वाला कोई नहीं है अपाहिज है दैनिक मजदूरी करते है। उनको ये लाभ दिया जाता है।

बुनकरों के लिए स्वास्थ्य बीमा स्कीम (HIS) – यह एक बीमा योजना है इसके अंदर उन सभी बुनकरों को लाभ पहुंचाया जाता है जो कम से कम अपने आय का 50% बुनकर कमा लेते है। सभी वर्ग के लिए योजना खुला है। इसमे सभी प्रकार के बीमारियों के लिए सरकार द्वारा अनुदान दिया जाता है जिसमे बच्चा पैदा करने से लेकर अस्पताल मे भर्ती, आँख बनवाना या किसी भी प्रकार का दवा कराना इन सबके लिए पैसा दिया जाता है।

राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी वित्त और विकास निगम (NSKFDC) – सफाई करने वाले कर्मचारियों के लिए उनके आय मे बढ़ावा करने के लिए योजना को लाया गया है।

हाथ से मैला ढोने वालों के पुनर्वास हेतु स्व-रोजगार योजना (संशोधित) – देश मे जो भी मैला ढोने का कार्य करते है उन्हे सरकार के इस योजना के तहत 3000 रुपये का मासिक वजीफा दिया जाता है।

रोजगार योजनाएं (Employment Scheme)

मनरेगा – प्रति परिवार प्रति वर्ष 100 दिन का काम मनरेगा के अंतर्गत दिया जाता है जिनकी आयु 18 वर्ष से ऊपर है।

दीन दयाल उपाध्याय– ग्रामीण कौशल्य योजना – इस योजना का मुख्य उद्देश्य गरीब वयस्क लोगों को मजदूरी से ऊपर नौकरी प्रदान करना है।

दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना – गरीब लोगों के व्यवसाय के लिए सहायता प्रदान करके उसका व्यवसाय को बढ़ाना है।

पीएम स्वनिधि – सभी फेरि वाले, ठेला वाले लोगों को 1000 रुपये लोन के तहत दिया जाता है। जिससे वो अपने दुकान को बढ़ा सके।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना – ऐसे योजना के तहत देश के सभी 18 से 45 वर्ष के युवा लोगों को कौशल प्रशिक्षण दिया जाता है जो की नौकरी के लिए भागीदार बन सके।

प्रधान मंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम – इस योजना के माध्यम से उन सभी गरीब लोगों को आर्थिक सहायता दिया जाता है जो की 5 से 10 लाख रुपये के अंदर कंपनी खोलना चाहते है।

ई श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड नंबर
  • आधार कार्ड मोबाईल नंबर से लिंक हो
  • बचत खाता
  • IFSC कोड
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट के आकार फोटो
  • मोबाईल नंबर

State Wise E Shramik Card

E Shramik Card Andhra PradeshClick Here
E Shramik Card Arunachal PradeshClick Here
E Shramik Card BiharClick Here
E Shramik Card ChhattisgarhClick Here
E Shramik Card Chandigarh Click Here
E Shramik Card Delhi Click Here
E Shramik Card Goa Click Here
E Shramik Card Gujarat Click Here
E Shramik Card Haryana Click Here
E Shramik Card Himachal Pradesh Click Here
E Shramik Card Jharkhand Click Here
E Shramik Card Jammu Click Here
E Shramik Card Kashmir Click Here
E Shramik Card Kerala Click Here
E Shramik Card Karnataka Click Here
E Shramik Card Madhya Pradesh Click Here
E Shramik Card Maharashtra Click Here
E Shramik Card Odisha Click Here
E Shramik Card Uttar Pradesh Click Here
E Shramik Card Uttrakhand Click Here
E Shramik Card West Bengal Click Here
E Shramik Card Punjab Click Here
E Shramik Card Tamil Nadu Click Here
E Shramik Card Telangana Click Here
E Shramik Card Rajasthan Click Here
E Shramik Card Assam Click Here

ई-श्रम पोर्टल पर आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया

  • सबसे पहले E-Shram Portal की सरकारी वेबसाईट पर गूगल मे सर्च करके चले जाना है।
  • अब आपको होमपेज पर ही रजिस्टर ऑन ई-श्रम के ऑप्शन पर जाकर क्लिक करना है।
  • अब आपके सामने नया पेज फॉर्म आएगा
  • यहाँ आपको अपने मोबाईल नंबर से रेजिस्टर्ड आधार कार्ड के 12 अंक के नंबर को भरना है और साथ मे कैप्चा कोड को भरना है।
  • इसके बाद आपसे पूछेगा कि EPFO मे नौकरी करते है यहाँ आपको अपने अनुसार भरना है।
  • फिर पूछेगा आप ESIC मे नौकरी करते है यहाँ भी आपको अपने अनुसार भर देना है।
  • और फिर send OTP पर क्लिक कर देना है
  • अब आपके आधार रेजिस्टर्ड मोबाईल नंबर पर OTP आएगा
  • OTP को भर देना है और फिर अपना आधार नंबर भरना है और अग्री के जगह पर टिक कर देना है।
  • सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है अब आप ई-श्रम पोर्टल E-Shram Portal पर दाखिल कर चुके है।

CSC को खोजने की पूरी प्रक्रिया

  • अपने नजदीकी जगह पर CSC खोजने के लिए E-Shram Portal पर आ जाना है।
  • यहाँ आपको सामने ही CSC Locator या हिन्दी मे CSC खोजे का पीले रंग मे ऑप्शन दिखाई देगा इसी पर क्लिक करके
  • अपने राज्य और जिले का नाम डालकर क्लिक करना है।
  • अब आपके जिले के पूरे CSC सेंटर की लिस्ट खुल जाएगा अपने गाँव का नाम देखकर CSC oprator से मिल सकते है। और फॉर्म को भरवा सकते है।

ई-श्रम पोर्टल से कान्टैक्ट

Helpline No. 14434 (सोमवार से शनिवार तक)

पूर्वाह्न 8 बजे से अपराह्न 8 बजे, सोमवार से शनिवार

तक हिंदी, अंग्रेजी, तमिल, बंगाली, कन्नड़, मलयालम, मराठी, ओडिया, तेलुगु और असमिया भाषाओं में उपलब्ध है।

Leave a Comment